महाशिवरात्रि पर विशेष

ईशान संहिता के अनुसार समस्त ज्योतिर्लिंगों का प्रादूर्भाव फाल्गुन कृष्ण चतुर्दशी को अर्धरात्रि के समय हुआ था,अतः इस पुनीत पर्व को महाशिवरात्रि के नाम से जाना जाता है,वैसे तो शिव भक्त प्रत्येक कृष्ण चतुर्दशी का व्रत करते है परन्तु उक्त…

आपका प्रश्न और ज्योतिष

ज्योतिषशास्त्र की दृष्टि से देखा जाए तो जीवन की हर छोटी बड़ी घटना ग्रहों से प्रभावित होती है. स्वास्थ्य सम्बन्धी परेशानियों एवं रोग का कारण भी ग्रह हैं. ज्योतिष की विधा प्रश्न कुण्डली रोग के विषय में क्या कहती है……….…